Top 10 Best Desh Bhakti Shayari in Hindi

0
167

Desh Bhakti Shayari in Hindi – Hello friends. if you looking for best Desh Bhakti Shayari, then you are in the right place. here is a big collection of best Shayari of dash bhakti.

We are providing a large collection of Desh Bhakti Shayari in Hindi, Latest Deshbhakti SMS, Independence Day status and Shayari, Republic day SMS and Shayari, Desh Bhakti Status for Whatsapp and Facebook.

आओ झुक कर सलाम करें उनको,
जिनके हिस्से में यह मुकाम आता है .
खुशनसीब है वह खून,
जो देश के काम आता है.

Aao Jhuk kar Salam Karen unko.
Jinke Hisse Mein Ye Mukam Aata Hai.
khushnaseeb hai vah Khun,
Jo Desh ke kam Aata Hai.

दे सलामी इस तिरंगे को
जिससे तेरी शान है.
सर हमेशा ऊंचा रखना इसका
जब तक दिल में जान है.

Top 10 Desh Bhakti Shayari in Hindi

De Salami is Tirange ko
Jisse Teri Shan hai
Sar Hamesha Uncha Rakhna iska
Jab tak Dil Mein Jaan Hai
.

अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नही
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही.

Apni Azadi Ko Hum Hargiz Mita Sakte Nahin
Sar Kata Sakte hain lekin Sar Jhuka Sakte Nahin.

जो अब तक ना खौला वो खून नहीं पानी है
जो देश के काम ना आए वो बेकार जवानी है.

Jo Ab Tak Na khaula vo Khoon Nahi Pani Hai
Jo Desh Ke kam Na Aaye vo bekar javani hai.

लड़े जंग वीरों की तरह,
जब खून खौल फौलाद हुआ
मरते दम तक डटे रहे वो,
तब ही तो देश आजाद हुआ.

Lade Jung veeron Ki Tarah
Jab Khoon Khaul Faulad Hua
Marte Dam Tak Date Rahe vo
Tab hi to Desh Azad hua

चैन-ओ-अमन का देश है मेरा,
इस देश में दंगा रहने दो
लाल हरे में मत बांटो,
इसे शान-ए-तिरंगा रहने दो.

Chain-o-Aman ka Desh Hai Mera
Is Desh Mein Danga Rahane do.
Lal hare Mein mat banto
Ise Shan-e-Tiranga Rahane do.

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना

Bas Yeh Baat Hawaao Ko Bataye Rakhna,
Roshni Hogi Chirago Ko Jalaye Rakhna,
Lahu Dekar Jiski Hifazat Ki Shaheedon Ne,
Uss Tirange Ko Sada Dil Mein Basaye Rakhna.

Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ.

Kisi gajre Ki Khushbu ko Mahakta Chhod aaya hun,
Meri Nanhi Si Chidiya ko Chahkta Chhod aaya hun,
muje a Chhati se Apni Tu laga lena e Bharat Ma,
Main Apni Ma Ki Baho Ko tarasta Chhod aaya hun.

वतन की मोहब्बत में खुद को तपाये बैठे है,
मरेगे वतन के लिए शर्त मौत से लगाये बैठे हैं.

Top 10 Best Desh Bhakti Shayari in Hindi

Vatan Ki Mohabbat Mein Khud Ko Tapaye Baithe Hain.
Marenge Vatan Ke Liye shart Maut Se Lagaye Baithe Hain.

मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है,
देश की रक्षा का संकल्प लिए जो जवान सरहद पर खड़ा है.

Mita diya hai vajud Unka
jo bhi inse Bhida hai
Desh Ki Raksha ka Sankalp liye
Jo Jawan Sarhad per Khada Hai

कभी सनम को छोड़ के देख लेना,
कभी शहीदों को याद करके देख लेना,
कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो,
देश से कभी इश्क करके देख लेना.

Kabhi Sanam Ko Chhod Kar Dekh Lena
Kabhi shahido Ko Yad karke dekh lena
Koi Mehboob Nahin Hai Vatan Jaisa Yaaro,
Desh Se Kabhi Ishq karke dekh lena.

Desh Bhakti Shayari with Image

लिख रहा हूं मैं अंजाम
जिसका कल आगाज आएगा
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा.

Likh Raha Hoon Main Anjam Jiska Kal Aagaaj aaega
Mere Lahu ka Har EK Katra inqlaab Layega.

दिल से मर कर भी ना निकलेगी वतन की उल्फत
मेरी मिट्टी से भी खुसबू-ए-वतन आएगी.

Dil Se Mar Kar Bhi Na niklegi Watan Ki Ulfat
Meri Mitti Se Bhi Khushbu-E-vatan Aaegi.

भारतमाता तुम्हें पुकारे आना ही होगा,
कर्ज अपने देश का चुकाना ही होगा,
दे करके कुर्बानी अपनी जान की,
तुम्हे मरना भी होगा मारना भी होगा.

Bharat Mata Tumhe Pukare aana hi hoga
Karj Apne Desh Ka Chukana hi hoga,
De Kar Ke Qurbani Apni Jaan Ki
Tumhe Marna hi hoga maarna Bhi Hoga

जब आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो,
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान की हो,
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन,
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो.

Jab Aankh Khule to Dharti Hindustan Ki Ho
Jab Aankh Band Ho To Yade Hindustan Ki Ho
Ham Mar bhi Jaaye to Koi Gam Nahin
lekin Marte Waqt Mitti Hindustan Ki Ho

 मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा
ये मुल्क मेरी जान है.
इसकी रक्षा के लिए
मेरा दिल और जां कुर्बान है.

Main Mulk ki Hifajat Karunga yah Mulk Meri Jaan Hai
Is ki Raksha ke liye Mera Dil Aur Jaan Kurban hai.

Top 10 Desh Bhakti Shayari in Hindi

छोड़ो कल की बातें, कल की बात पुरानी,
नए दौर में लिखेंगे, मिल कर नयी कहानी,
हम हिंदुस्तानी….. हम हिंदुस्तानी…..

Chhodo Kal ki baten, Kal Ki Baat purani,
Naye Daur Mein Likhenge Milkar Nahin Khani.
Hum Hindustani… Hum Hindustani….

खुशनसीव हैं वो जो वतन पे मिट जाते हैं,
मर कर भी वो लोग अमर हो जाते हैं.

khushnaseeb hai vah jo Vatan pr Mit Jaate Hain ,
Mar Kar Bhi vo log Amar Ho Jaate Hain.

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहराएंगे हर जगह.
ये तिरंगा नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

Kuchh Nasha Tirange ki Aan ka hai.
Kuchh Nasha Matrubhumi ki shan ka hai.
Ham lahrayenge Har Jagah yah Tiranga,
Nasha ye Hindustan ki shan ka hai.

सीनें में ज़ुनू, ऑखों में देंशभक्ति, की चमक रखता हुँ,
दुश्मन की साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखता हुँ.

Seene Mein Junoon Aankhon Mein Deshbhakti ki Chamak Rakhta hu, Dushman ki Saanse tham jaaye, Awaaz mein vo dhamak Rakhta hu.

मैं अपने देश का हरदम सम्मान करता हूँ,
यहाँ की मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे डर नहीं है अपनी मौत से,
तिरंगा बने कफ़न मेरा, यही अरमान रखता हूँ.

Main Apne Desh Ka hardam Samman karta hun
Yahan Ki Mitti ka hi gungan karta hun
Mujhe Dar nahi hai apni Maut Se,
Tiranga Bane Kafan Mera, Yahi Armaan Rakhta hun.

जो देश के लिए शहीद हुए
उनको मेरा सलाम है,
अपने खूं से जिस जमीं को सींचा
उन बहादुरों को सलाम है.

Desh Ke Liye Shahid Hue
unko Mera Salam hai
Apne Khoon Se Jis Jameen ko Sincha
Un Bahaduro Ko Salam hai

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बूंद भी लहू की तब तक,
भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे.

Azadi ki Kabhi Sham Nahin hone denge.
Shahido ki Kurbani Badnaam Nahin hone denge.
Bachi Ho Jo Ek Boond bhi Lahu ki tab tak,
Bharat Mata ka Aanchal Nilam Nahin hone denge.

ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है,
ना बड़ा सा नाम मेरा है,
मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है,
मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है.

Na Sarkar Meri Ha,i Na Raub Mera Hai.
na Bada sa Naam Mera Hai.
Mujhe to Ek Chhoti Si Baat ka Gaurav hai,
Main Hindustan ka hun, aur Hindustan Mera Hai.

देशभक्तों से ही देश की शान है.
देशभक्तों से ही देश का मान है.
हम उस देश के फूल हैं यारों,
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है.

Desh Bhakto Se Hi Desh Ki Shaan Hai
Desh bhakto se hi desh ka man hai
Ham use Desh Ke Phool Hai Yaro
Jis Desh Ka Naam Hindustan hai.

Best Friendship Status

I hope you friends will have liked Desh Bhakti Shayari Collection, you can share this Desh Bhakti Shayari on your Whatsapp or Facebook status, especially on the occasion of Independence Day and Republic day many People find Desh Bhakti Shayari in Hindi. In this article, we have given you a wonderful collection of Best Desh Bhakti Shayari. Share it if you like it.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here